To get hair again use MODI technique

मोदी टेक्नीक से आपके सर पर बाल आएंगे

बालोंपर लगातार कैमिकल लगने से स्कैल्प ड्राई होने लगती है। बालों के झड़ने का अहम कारण भी यही है। कई बार प्रॉपर नरिशमेंट, डाइट लेने और थायराइड, डायबिटीज, हाइपरटेंशन हेरीडिट्री कारणों से भी बाल झड़ने लगते हैं। बुधवार को इसके बारे में डॉक्टर विक्रमजीत सिंह ढ़ीगरा ने होटल अरोमा-22 में बात की। पंजाब के सिख यूथ का उदाहरण देते हुए बोले, ‘इनमें ज्यादातर के बाल आगे से झड़ने लगते हैं। इसे ट्रेक्शन एलोपीसिया कहते हैं। इसका कारण होता है बचपन से उन्हें पटका बांधे जाना।

[ad name=”HTML”]

पटका या जूड़ा बनाने के लिए उनके बालों को लगातार खींचकर बांधा जाता है। बालों को इस तरह खींचे जाने के प्रोसेस में उनकी हेयरलाइन बिगड़ती है। उनके बाल जड़ से निकलने लगते हैं। इस वजह से सिख यूथ के माथे पर आगे की ओर कम बाल रह जाते हैं। इसके सबसे ज्यादातर केस इंडिया और अफ्रीका में हैं। यहां पंजाब के सिख यूथ में और अफ्रीका में महिलाओं के बीच। वहां की महिलाएं बालों को खींचकर उनके कर्ल्स बनाती हैं। इससे उनके बाल झड़ने लगत हैं। ट्रेक्शन एलोपीसिया के ऐसे ही पेशंेट्स के लिए मोदी (मॉडिफाइड डायरेक्ट इम्प्लांटेशन) टेक्नीक बनाई है। इस मॉडर्न टेक्नीक के जरिए हेयरलाइन पहले जैसी हो जात है। इसके लिए सिर्फ एक या दो सिटिंग लेनी होंगी।’

[ad name=”HTML”]

मार्केट में दूसरे हेयर ट्रांसप्लांट ट्रीटमेंट्स भी हैं। कुछ लोग उन्हें अपनाते हैं। ऐसे में मोदी टेक्नीक कैसे बेहतर साबित होगी? डॉ ढ़ींगरा कहते हैं, “माना मार्केट में हेयर ट्रांसप्लांटेशन की अन्य टेक्नीक मौजूद हैं। वे लोग पिछले सात साल से हेयर ट्रांसप्लांट के लिए एफयूई टेक्नीक इस्तेमाल कर रहे हैं। इसमें स्कैल्प के पीछे के हिस्से से बालों को निकालकर आगे लगाया जाता है। यह रुटीन पेशंेट्स के लिए है, पर मोटी टेक्नीक उसी का मॉडिफाइड रूप है। इसमें वैसा ही बाल लगाया जाता है जैसे बाल आसपास होते हैं। क्योंकि कई बार पीछे के स्कैल्प से निकालकर लगाए गए बाल नजर आते हैं आैर उनकी ग्रोथ सही दिशा में नहीं होती। यह बाल बढ़ने पर बेकार लगते हैं। हेयरलाइन मेनटेन नहीं होती। पर मोदी टेक्नीक में सबकुछ प्रॉपर होता है। उसी स्ट्रेंथ टेक्स्चर का बाल लगाया जाता है, जिस टेक्स्चर आैर स्ट्रेंथ के बाल आसपास होते हैं।

[ad name=”HTML”]

यहां करा सकते हैं

{काॅस्मोहॉस्पिटल, मोहाली

{फोर्टिस चंडीगढ़ ब्रांच, सेक्टर-11

 

Leave a Reply